इटावा

शिवपाल की ‘जेड’ सिक्योरिटी हटाने को लेकर हर तरफ विरोध

शिवपाल की ‘जेड’ सिक्योरिटी हटाने को लेकर हर तरफ विरोध
रामकिशोर सिंह ब्यूरो चीफ सनशाइन समय इटावा
जसवंतनगर (इटावा)। 28 नबंवर सोमवार प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं क्षेत्रीय विधायक शिवपाल सिंह यादव की जेड सुरक्षा व्यवस्था हटाए जाने को लेकर जबरदस्त आक्रोश उमड़ पड़ा है। कहा गया है कि भारतीय जनता पार्टी और योगी सरकार उन्हें खतरे में डाल रही है।
बताते चलें कि शिवपाल सिंह यादव,स्व मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई हैं।वह करीब 30 वर्षों से राजनीति में सक्रिय हैं।प्रदेश सरकार में दो बार कैबिनेट मंत्री और एक बार विपक्ष के नेता रह चुके हैं। साथ ही वह एक पार्टी के राष्ट्रीयअध्यक्ष भी हैं ।इसी भाजपा सरकार ने उन्हें सुरक्षा दे रखी थी। अब क्योंकि शिवपाल सिंह यादव भाजपा नीतियों का खुलकर विरोध कर रहे हैं ,इसलिए उनकी सुरक्षा हटा कर योगी सरकार उन्हें असुरक्षित करके और उन्हे दबाव में लेना चाह रही है।
हाल ही में घटे राजनीतिक घटनाक्रम में शिवपाल सिंह यादव मतभेद भुलाकर अपने भतीजे और प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे अखिलेश यादव के साथ एक हो गए । वह अपने परिवार की मैनपुरी लोकसभा चुनाव में लड़ रहीं डिंपल यादव के प्रचार में भी इन दिनों जुटे हैं ।
चूंकि मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव भारतीय जनता पार्टी की नाक का सवाल बन गया है और उसे लग रहा है कि शिवपाल सिंह यादव के कारण अब भारतीय जनता पार्टी का मैनपुरी में खेल खत्म हो गया है। इस वजह से योगी सरकार ने चुनाव दौरान शिवपाल सिंह की सुरक्षा व्यवस्था जेड से हटाकर वाई सुरक्षा की है।
स्व मुलायम सिंह नेताजी का परिवार देश का बहुत बड़ा राजनीतिक परिवार है । इस परिवार के सदस्यों स्वयं मुलायम सिंह, अखिलेश यादव और शिवपाल सिंह को सुरक्षा की सख्त जरूरत रही है इस कारण इन्हें जेड प्लस और जेड जैसी सुरक्षाएं दी जाती रहीं।
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की सुरक्षा कम करने को लेकर उनके बेटे और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आदित्य यादव ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते कहा है कि
सुरक्षा कम करने का सीधा यही मतलब है कि कही न कहीं भाजपा को डर और बदहवासी भी बीजेपी के अंदर है।
। इस चुनाव को लेकर ,पहले बीजेपी को लगा था कि वह चुनाव को जीतेगी, लेकिन अखिलेश और शिवपाल को एक साथ और जनता में डिंपल की जीत का जबरदस्त उत्साह देख ,भाजपा हताशा में चली गई है। जितने भी हथकंडे है, सरकार उनको आजमा रही है।उन्होंने कहा कि हम लोगो को पहले से ही इस बात का आभास था, इसमे अचरज होने वाली कोई बात नही। हो सकता है कि सुरक्षा व्यवस्था हटाए जाने के नाम पर भाजपा के अराजक तत्व उन पर हमला बोल भी बोल दें।
समाजवादी पार्टी चिकित्सा पुणे प्रकोष्ठ के नेता डॉ आशीष दीक्षित ने कहां है किहमारे नेता की सुरक्षा कम करना दर्शाता है कि मैनपुरी में सपा को दिये समर्थन व मिल रहें जनादेश से भारतीय जनता पार्टी को उसकी हार का एहसास हो चुका हैं ।
सुरक्षा व्यवस्था हटाने को लेकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के महासचिव अजेंद्र सिंह गौर, राहुल गुप्ता, महावीर सिंह यादव, विनोद यादव, राजीव यादव, अभिषेक यादव, मोना यादव,प्रो डॉ बृजेश चंद् यादव, अनुज मोंटी यादव, मोहम्मद अहसान, मोहम्मद फारुख, विद्याराम यादव, नीरज यादव, अशोक क्रांतिकारी, रामनरेश पप्पू ,राजीव गुप्ता बबलू ,शांतनु गुप्ता, मोहम्मद अमजद, रफीक सलीम टाल वाले सतनारायण पुद्दल, संतोष शाक्य सत्यवती यादव, आदि ने योगी सरकार को कटघरे में लेते तुरंत शिवपाल सिंह यादव की जेड सुरक्षा बहाल करने की अपील की है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
%d bloggers like this: